Page Nav

HIDE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Breaking News:

latest

History of Yoga Day: भारत के लिए नया नहीं है "योग" शब्द, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की नींव भारत की देन

योग भारत के लिए नया नहीं है, योग की उत्पत्ति माना जाता है कि कई हजारों साल पहले पूरे संसार में सबसे पहले भारत में हुई थी। योग को पूरे विश्व ...


योग भारत के लिए नया नहीं है, योग की उत्पत्ति माना जाता है कि कई हजारों साल पहले पूरे संसार में सबसे पहले भारत में हुई थी। योग को पूरे विश्व में प्रख्यात बनाने व धर्म की विचारधाराओं से दूर करने का मुख्य श्रेय महर्षि पतंजलि को जाता है। महर्षि पतंजलि द्वारा "योग सूत्र" की रचना की गई है। महर्षि पतंजलि को ही योग का जनक माना जाता है। मानता तो यह भी है की प्राचीनतम धर्म या आस्थाओं के जन्म लेने से काफी पहले योग का जन्म हो चुका था। योग विद्या में शिव को "आदियोगी" तथा "आदि गुरु" माना जाता है।

 पूर्व वैदिक काल व वैदिक काल में भी योग बड़ा प्रचलित था।  प्राचीन समय में योग की जड़े इतनी गहरी है, कि उनकी सतह तक पहुंचना एक बड़ी शोध की बात है।  

 आधुनिक काल में स्वामी विवेकानंद ने शिकागो के धर्म संसद में अपने ऐतिहासिक भाषण में योग का उल्लेख कर सारे विश्व को योग से परिचित कराया था। भारत की जमीन से धीरे-धीरे योग सारे संसार में फैल चुका था, लेकिन अभी तक योग को एक विशेष पहचान नहीं मिली थी, जो विशेष पहचान अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में थी।  इसके लिए हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष सन 2014 यूनाइटेड नेशन की जनरल असेंबली में योग के लिए किसी एक दिन को पूरे वर्ष में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने की बात रखी थी। इसके बाद 11 दिसंबर 2014 में आयोजित यूनाइटेड नेशनल जनरल असेंबली में भारत के पार्लियामेंट्री रिप्रेजेंटेटिव अशोक मुखर्जी ने असेंबली के सभी सदस्यों के सामने अपना प्रस्ताव रखा, प्रस्ताव का 177 देशों ने अपना समर्थन दिया। इसी तरह भारत के अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के स्वप्न को दुनिया भर के देशों ने अपना लिया। पहली बार अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2015 में मनाया गया, 21 जून 2015 को भारत ही नहीं न्यूयॉर्क, पेरिस व बैंकॉक जैसे तमाम बड़े अन्य देशों ने मनाया। सन 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने "सद्भाव और शांति के लिए योग" थीम पर प्रथम अंतर्राष्ट्रीय योग्य दिवस का उद्घाटन किया था। वर्ष 2024 के 10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को हम सभी "स्वयं और समाज के लिए योग" थीम के साथ मना रहे हैं। 

ऋतिक पटेल,  बीकॉम (ऑनर्स),एमकॉम संस्थापक-हेलो प्रोफेसर 

No comments